हेट स्पीच पर फंसे इमरान खान:भाषणों के लाइव टेलिकास्ट पर रोक लगी, किसी भी वक्त गिरफ्तारी मुमकिन

इमरान खान ने शनिवार रात एक भाषण के दौरान पाकिस्तान पुलिस और जजों को धमकी दे दी। इसके बाद पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी (PEMRA) ने इमरान खान के भाषणों के लाइव टेलिकास्ट पर फौरन रोक लगा दी। पुलिस भी कानूनी कार्रवाई करने जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रेंजर्स को अलर्ट पर रखा गया है और खान को किसी भी वक्त गिरफ्तार किया जा सकता है।

PEMRA के मुताबिक- खान ने संविधान के आर्टिकल 19 का उल्लंघन किया है। इमरान खान लगातार देश की फौज, पुलिस और ज्यूडिशियरी के खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। उनके भाषणों से नफरत फैल रही है।

इमरान ने क्या कहा था?
इमरान ने 20 अगस्त को इस्लामाबाद के F9 पार्क में आयोजित एक रैली के दौरान कहा था- पाकिस्तान की पुलिस किसी के निर्देश पर मेरे पार्टी लीडर्स को गिरफ्तार कर रही है। जब मैंने पुलिस से पूछा कि शहबाज गिल को क्यों गिरफ्तार किया गया है, तो पुलिस का कहना था कि वे सिर्फ ऑडर्स फॉलो कर रहे हैं।

महिला जज को भी धमकी
इतना ही नहीं, खान ने एक महिला जज पर अपनी पार्टी के खिलाफ पक्षपात वाला रवैया अपनाने का आरोप लगाया और उसे देख लेने की धमकी दी। उन्होंने कहा- ज्यूडिशियरी को भी परिणामों के लिए खुद को तैयार कर लेना चाहिए। खान ने गिल को रिमांड पर लिए जाने का आदेश देने वाली महिला जज को भी धमकी देते हुआ कहा कि जज को खिलाफ भी एक्शन लिया जाएगा। इसके लिए जज तैयार रहें।

इमरान के करीबी दोस्त हैं शहबाज गिल
पुलिस ने शाहबाज गिल को 9 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के वक्त गिल लग्जरी कार से इमरान के घर बनीगाला जा रहे थे। उन्होंने पाकिस्तानी फौज और ज्यूडिशियरी के बारे में उन्होंने पिछले दिनों बेहद घटिया बयानबाजी की थी। इससे आर्मी और सरकार बेहद नाराज थी। इसलिए उनकी गिरफ्तारी हुई। उस वक्त माना जा रहा था कि पुलिस इमरान को भी गिरफ्तार कर सकती है।

फॉरेन फंडिंग मामले में भी गिरफ्तार हो सकते हैं खान
पाकिस्तानी न्यूज वेबसाइट द न्यूज के मुताबिक, भारत समेत कई देशों से अवैध फंडिंग मामले में फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (FIA) इमरान खान को गिरफ्तार कर सकती है। FIA इमरान की पार्टी पीटीआई के फंड और अकाउंट की भी जांच कर सकती है। इसके लिए एजेंसी कोर्ट से परमिशन मांग सकती है। अगर इमरान जांच कमेटी के सामने पेश नहीं होते हैं या अवैध फंडिंग मामले से संबंधित नोटिस का जवाब नहीं देते तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमरान खान को गिरफ्तार करने का अंतिम फैसला उन्हें 3 नोटिस दिए जाने के बाद लिया जा सकता है। शुक्रवार को उन्हें दूसरा नोटिस दिया गया है। ‘जियो न्यूज’ के मुताबिक, पाकिस्तान की एलीट सिक्योरिटी यूनिट रेंजर्स को इमरान की गिरफ्तारी के लिए अलर्ट पर रखा गया है।

Leave a Comment